Tuesday, April 14, 2009

पी.एम्.जी नमस्तेतो कर दीजिये झल्ली कलम से

एक भाजपाई ओये झाल्लेया ये कया हो रहा है ?हसाडे आडवाणी डाडा ने आज आंबेडकर जयन्ती पर संविधान निर्माता को श्रधांजलिदेने के बाद प्रधान मंत्री को ओउप्चारिक नमस्ते की तो घमंडी पी.एम्.ने जवाब देने के बजाये मुँह दूसरी और कर लिया लोक तंत्र मैं मुख्य विपक्ष का ऐसा अपमान ये तो घोर अनर्थ है लोकतंत्र का अपमान है

झल्ला ओ भोले बादशाहों आप तो हसाडे सोणे ते मनमोहने पी.एम् ।को कमजोर पी.एम्.कहते नही अघाते अब कमजोर आदामी ताकतवर से नज़रे नही चुराएगा तो कया करेगा

1 comment:

Babli said...

वाह वाह क्या बात है!!!